Archive for Category: Health Tips

Showing 1– 10 of 75 results

  • शरीर के किसी भी हिस्से में उठने वाली कोई भी गठान या रसौली एक असामान्य लक्षण है जिसे गंभीरता से लेना आवश्यक है। ये गठानें पस या टीबी से लेकर कैंसर तक किसी भी बीमारी की सूचक हो सकती हैं। गठान अथवा ठीक नहीं होने वाला छाला व असामान्य आंतरिक या बाह्य रक्तस्राव कैंसर के […]

    किसी भी किस्म की गाँठ के लिए करे ये उपाय

    शरीर के किसी भी हिस्से में उठने वाली कोई भी गठान या रसौली एक असामान्य लक्षण है जिसे गंभीरता से लेना आवश्यक है। ये गठानें पस या टीबी से लेकर कैंसर तक किसी भी बीमारी की सूचक हो सकती हैं। गठान अथवा...
    Read More
  • मोतियों जैसे चमकते सफेद दांत आपकी सुंदरता और व्यक्तित्व में चार चांद लगा देते हैं। दिन में दो बार ब्रश और उचित साफ-सफाई से दांत मोतियों से चमकदार और मजबूत बने रहते हैं। गुटका, पान, तंबाकू, सिगरेट, शराब आदि दांतों की चमक तो समाप्त कर ही देते हैं, इनकी जड़ों को भी कमजोर करते हैं। […]

    मोतियों जैसे चमकते सफेद दांत

    मोतियों जैसे चमकते सफेद दांत आपकी सुंदरता और व्यक्तित्व में चार चांद लगा देते हैं। दिन में दो बार ब्रश और उचित साफ-सफाई से दांत मोतियों से चमकदार और मजबूत बने रहते हैं। गुटका, पान, तंबाकू, सिगरेट,...
    Read More
  • एक 62 वर्ष के बुजुर्ग को अचानक बांई आँख से कम दिखना शुरू हो गया। खासकर रात को नजर न के बराबर होने लगी।जाँच करने से यह निष्कर्ष निकला कि उनकी आँखे ठीक है परंतु बांई आँख की रक्त नलीयाँ सूख रही है। रिपोर्ट में यह सामने आया कि अब वो जीवन भर देख नहीं […]

    नाभी कुदरत की एक अद्भुत देन है

    एक 62 वर्ष के बुजुर्ग को अचानक बांई आँख से कम दिखना शुरू हो गया। खासकर रात को नजर न के बराबर होने लगी।जाँच करने से यह निष्कर्ष निकला कि उनकी आँखे ठीक है परंतु बांई आँख की रक्त नलीयाँ सूख रही है। रिपोर्ट...
    Read More
  • सर्वाधारे सर्व बीजे सर्व शक्ति समन्विते। सर्व कामप्रदे देवि सर्वेष्टं दोहिमे धरे॥ (ब्रह्मवैवर्त पुराण) “हे पृथ्वी देवी तू सबकी आधार, सबकी बीजरूप, सब प्रकार की शक्ति से युक्त तथा समस्त इच्छाओं को पूर्ण करने वाली है, मेरा कल्याण कर।” मिट्टी एक अत्यन्त साधारण वस्तु समझी जाती है और इसी कारण उसे विशेष महत्व नहीं दिया […]

    मिट्टी चिकित्सा से लाभ

    सर्वाधारे सर्व बीजे सर्व शक्ति समन्विते। सर्व कामप्रदे देवि सर्वेष्टं दोहिमे धरे॥ (ब्रह्मवैवर्त पुराण) “हे पृथ्वी देवी तू सबकी आधार, सबकी बीजरूप, सब प्रकार की शक्ति से युक्त तथा समस्त इच्छाओं...
    Read More
  • आज के समय में विभिन्न प्रकार के प्रदूषण वातावरण फैल रहे हैं जिनमें से आवाज का प्रदूषण मनुष्यों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। वैसे देखा जाए तो कान के रोग अक्सर शरीर में खून के दूषित हो जाने की वजह से हो जाते हैं। कान के रोग कई प्रकार के होते हैं जिनके होने […]

    कान के रोग

    आज के समय में विभिन्न प्रकार के प्रदूषण वातावरण फैल रहे हैं जिनमें से आवाज का प्रदूषण मनुष्यों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। वैसे देखा जाए तो कान के रोग अक्सर शरीर में खून के दूषित हो जाने...
    Read More
  • 1. बच्चा दो – तीन साल का होने पर भी तुतलाए तो आप ब्राम्ही के हरे पत्ते (यदि बच्चा खा सके तो) खिलाएं। इससे क जुबान (जीभ) का मोटापन व कड़ापन दूर होगा और वह साफ बोलने लगेगा। 2. बड़े बच्चों को रोजाना सुबह आंवला चबाने को दें और रात को सोते समय एक टीस्पून […]

    यदि बच्चा तुतलाता हो तो

    1. बच्चा दो – तीन साल का होने पर भी तुतलाए तो आप ब्राम्ही के हरे पत्ते (यदि बच्चा खा सके तो) खिलाएं। इससे क जुबान (जीभ) का मोटापन व कड़ापन दूर होगा और वह साफ बोलने लगेगा। 2. बड़े बच्चों को रोजाना सुबह...
    Read More
  • रत्नों से संभव है औषधीय उपचार हजारों वर्षों से वैद्य रत्नों की भस्म और हकीम रत्नों की षिष्टि प्रयोग में ला रहे हैं। माणिक्य भस्म शरीर मे उष्णता और जलन दूरकरती है। यह रक्तवर्धक और वायुनाशक है। उदर शूल, चक्षु रोग और कोष्ठबद्धता में भी इसका प्रयोग होता है और इसकी भस्म नपुंसकता को नष्ट […]

    रत्नों से हो सकता है रोगों का नाश

    रत्नों से संभव है औषधीय उपचार हजारों वर्षों से वैद्य रत्नों की भस्म और हकीम रत्नों की षिष्टि प्रयोग में ला रहे हैं। माणिक्य भस्म शरीर मे उष्णता और जलन दूरकरती है। यह रक्तवर्धक और वायुनाशक है।...
    Read More
  • वास्तव में होम्योपैथी में समय की बिल्कूल बर्बादी नही होती। बीमारी का लक्षण दिखते ही होम्योपैथिक औषधि का सुझाव देना संभव है, हम उन लक्षणों को प्रूवर (व्यक्ति जिस पर औषदि का परीक्षण किया जाता है )पर किसी औषधि के ज्ञात प्रभाव से मिलाने में सक्षम होते हैं। औषधि के बारे में संपूर्ण जानकारी और […]

    आखिर होमियोपैथी ही क्यों ?

    वास्तव में होम्योपैथी में समय की बिल्कूल बर्बादी नही होती। बीमारी का लक्षण दिखते ही होम्योपैथिक औषधि का सुझाव देना संभव है, हम उन लक्षणों को प्रूवर (व्यक्ति जिस पर औषदि का परीक्षण किया जाता है...
    Read More
  • पहला प्रयोगः नमक के पानी से अथवा दो ग्राम फुलायी हुई फिटकरी को 125 ग्राम गर्म पानी में डालकर दिन में दो-तीन बार गरारे करने से गले की सूजन मिटती है। दूसरा प्रयोगः हरड़े की छाल के साथ हल्दी को उबालकर उसके गरारे करने के साथ ही 2 से 5 ग्राम हरड़े का नियमित सेवन […]

    गले की सूजन एवं टॉन्सिल्स (Tonsils)

    पहला प्रयोगः नमक के पानी से अथवा दो ग्राम फुलायी हुई फिटकरी को 125 ग्राम गर्म पानी में डालकर दिन में दो-तीन बार गरारे करने से गले की सूजन मिटती है। दूसरा प्रयोगः हरड़े की छाल के साथ हल्दी को उबालकर...
    Read More
  • न क्रीम काम आती है और न ही स्क्रब। कोहनी और घुटने की कालिमा इतनी आसानी से कहां जाती है।लेकिन चंद घरेलू उपाय अपनाकर आप पा सकती हैं इस परेशानी से निजात। जानिए कैसे- kohni aur ghutno ki safai ke liye gharelu upaay कोहनी और घुटनों की त्वचा का कालापन एक आम समस्या है। इससे […]

    कोहनी और घुटनों की सफाई के लिए घरेलू उपाय

    न क्रीम काम आती है और न ही स्क्रब। कोहनी और घुटने की कालिमा इतनी आसानी से कहां जाती है।लेकिन चंद घरेलू उपाय अपनाकर आप पा सकती हैं इस परेशानी से निजात। जानिए कैसे- kohni aur ghutno ki safai ke liye gharelu upaay कोहनी और घुटनों...
    Read More

Showing 1– 10 of 75 results

Hello
Can We Help You?
Powered by

Register